प्रतिलिप्याधिकार/सर्वाधिकार सुरक्षित ©

इस ब्लॉग पर प्रकाशित अभिव्यक्ति (संदर्भित-संकलित गीत /चित्र /आलेख अथवा निबंध को छोड़ कर) पूर्णत: मौलिक एवं सर्वाधिकार सुरक्षित है।
यदि कहीं प्रकाशित करना चाहें तो yashwant009@gmail.com द्वारा पूर्वानुमति/सहमति अवश्य प्राप्त कर लें।

यदि आप चाहें तो हमें कुछ सहयोग कर सकते हैं

28 May 2020

लूडो और ज़िंदगी

लूडो 
खेला तो होगा ही 
सभी ने एक न एक बार 
किया तो होगा ही 
16 गोटियों से 
72 खानों को पार 
देखा तो होगा ही 
जीत और हार। 

ये रंग-बिरंगी ज़िंदगी 
ऐसी ही है 
बिल्कुल लूडो की तरह 
अनिश्चित है 
कि यहाँ कब कौन 
किसको कहाँ और कैसे  
पीट कर-धकिया कर 
आगे निकल जाए 
और 
मंजिल के 
बिल्कुल करीब पहुँच कर भी 
नई शुरूआत 
करनी पड़  जाए । 

इस बिसात पर  
चार सितारों के विश्राम स्थल 
सिखाते हैं 
थोड़ा संभलना 
ठहर कर चलना 
धीरे-धीरे तो 
कहानी बन ही जाएगी 
मंजिल मिल ही जाएगी 
लेकिन 
सिर्फ उसको 
जिसको आता हो 
अवसर को पढ़ना 
अपनी सही चाल से 
आगे बढ़ना । 

लूडो 
सिर्फ खेल नहीं है 
ज़िंदगी के हर
उतार -चढ़ाव का 
ऐसा प्रतिमान है 
जिसके बिना 
हम कर नहीं सकते कल्पना 
अपने भूत-भविष्य 
और वर्तमान की। 

- यशवन्त माथुर ©
28/05/2020

22 May 2020

हसरत पूरी हो उसे पा जाने की.....(राहुल श्रीवास्तव)

ऐसा नही है कि मुझमें ताक़त नही थी, 
किस्मत बदल पाने की। 
हौसले के साथ आसमानों से, 
आगे उड़ जाने  की। 

समझ न पाया मंजिलें 
या समझ  न थी समझाने  की। 
कुछ ग़लतियाँ मेरी ही थीं, 
कुछ दूसरों के बदल जाने की। 

मुकद्दर  मेरा ठहरा हुआ है अभी, 
वो आ जाए शायद एक दिन....
और हसरत पूरी हो उसे पा जाने की। 

-राहुल श्रीवास्तव ©
लखनऊ । 

(रचनाकार एक प्रतिष्ठित कंपनी में वरिष्ठ अधिकारी हैं)

20 May 2020

यह क्या रच दिया ?

अगर वो है 
तो वो देख रहा है 
बदलती दुनिया के रंग 
संस्कृतियों के ढंग 
अनंत आकाश के उस पार से 
या धरती की गहराइयों से 
शायद उसे होता होगा एहसास 
या होता होगा पछतावा कि 
'यह क्या रच दिया'?
परमाणुओं की मिट्टी से 
समय की चाक पर 
यह क्या ढाल  दिया ?
यह वो नहीं 
जिसे आकार दिया था 
प्रगति के सोपानों से 
जिसे  साकार किया था 
यह कुछ और ही है 
जो उच्छश्रृंख़ल होता हुआ 
सारे प्रतिमानों 
सारी स्थापनाओं को 
ध्वस्त करता हुआ 
अपने क्षरण की ओर 
बढ़ता हुआ 
गढ़ रहा है 
कुछ नए साँचे 
अपने पुनर्सृजन के। 

-यशवन्त माथुर ©
20/05/2020 

19 May 2020

कॉपी एडिटर की आवश्यकता है

ठाकुर पब्लिकेशन लखनऊ शीघ्र ही इंडियन नर्सिंग काउंसिल द्वारा अनुमोदित नवीनतम पाठ्यक्रम पर आधारित ANM/GNM और B.Sc.(Nursing) की पाठ्यपुस्तकों का प्रकाशन करने जा रहा है। इस हेतु संस्थान को योग्य कॉपी एडिटर्स की आवश्यकता है। 

कॉपी एडिटर के मुख्य कार्य निम्नवत होंगे-
  1. पाठ्यक्रम के अनुसार विषय वस्तु का चयन एवं लेखन। 
  2. पाठ्यक्रम के अनुसार विषयवस्तु को परिवर्द्धित करना एवं पहले से उपलब्ध सामग्री को आवश्यकतानुसार संपादित करना। 
  3. उपलब्ध विषयसामग्री को सरल एवं आसान भाषा में परिवर्तित करना। 
  4. विषयसामग्री को यथा संभव त्रुटि मुक्त (error free) करना। 
  5. वरिष्ठ संपादकों के साथ समन्वय स्थापित कर उच्च गुणवत्ता मानदंड बनाए रखना। 
वेतन योग्यतानुसार एवं लखनऊ निवासियों को प्राथमिकता दी जाएगी। 

यदि आप फ्रेशर हैं,नर्सिंग बैकग्राउंड से हैं , कुछ अलग करना चाहते हैं और प्रकाशन के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो शीघ्र ही एच आर डिपार्टमेंट को अपना C.V. मेल करें अथवा मोबाइल पर संपर्क करें-

मेल - hr@tppl.co.in
मोबाइल- 9235318539

अधिक जानकारी संस्थान के फ़ेसबुक पेज पर भी उपलब्ध है। 


Popular Posts

+Get Now!