प्रतिलिप्याधिकार/सर्वाधिकार सुरक्षित ©

इस ब्लॉग पर प्रकाशित अभिव्यक्ति (संदर्भित-संकलित गीत /चित्र /आलेख अथवा निबंध को छोड़ कर) पूर्णत: मौलिक एवं सर्वाधिकार सुरक्षित है।
यदि कहीं प्रकाशित करना चाहें तो yashwant009@gmail.com द्वारा पूर्वानुमति/सहमति अवश्य प्राप्त कर लें।

यदि आप चाहें तो हमें कुछ सहयोग कर सकते हैं

13 May 2014

तस्वीरें....

तस्वीरें
जो लटकी हैं
यूं ही दीवारों पर
याद दिलाने को
बीता कल
कभी कभी
बातें करती हैं मुझ से
अकेले में
बताती रहती हैं
दूसरों के निहारने से
मिलने वाला सुख
जमी हुई गर्द से
मिलने वाला दुख
और न जाने क्या क्या
कहती रहती हैं
अपनी खामोश जुबान से
कभी कभी
सुनती रहती हैं
मेरी हरेक अनकही
बताती रहती हैं
सही गलत का भेद
शीशे के फ्रेम में जड़ी
बीते कल की 
यह तस्वीरें 
अनमोल विरासत हैं
आने वाले
कल के लिए।

~यशवन्त यश©

14 comments:

  1. सुंदर प्रस्तुति...
    आप ने लिखा...
    मैंने भी पढ़ा...
    हम चाहते हैं कि इसे सभी पड़ें...
    इस लिये आप की ये रचना...
    15/05/2013 को http://www.nayi-purani-halchal.blogspot.com
    पर लिंक गयी है...
    आप भी इस हलचल में अवश्य शामिल होना...

    ReplyDelete
  2. सच, दीवार पर लटकी तस्वीर बहुत कुछ कहता है... सुन्दर अभिव्यक्ति,,

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर प्रस्तुति।
    --
    आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल बुधवार (14-05-2014) को "आया वापस घूमकर, देशाटन का दौर" (चर्चा मंच-1612) पर भी होगी!
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
  4. बहुत बढ़िया ..... सच में अनमोल विरासत हैं ...

    ReplyDelete
  5. सुन्दर रचना ..

    ReplyDelete
  6. सच कहा है ... तस्वीरें बहुत कुछ बोलती हैं ... इतिहार छुपाये रखती हैं मन में ...
    गहरी रचना ...

    ReplyDelete
  7. सुंदर प्रस्तुति...

    ReplyDelete
  8. अपनी खामोश जुबान में सुनती रहती हैं मेरी कही अनकही
    ये तस्वीरें और कहती भी तो हैं।

    ReplyDelete
  9. सुशील17 May 2014 at 16:12

    बहुत सुंदर ।
    अपने अपने शून्य हैं
    किसी का शून्य अनंत
    किसी का अनंत शून्य :)

    ReplyDelete
  10. For the 1st time, I am hosting a Fruity Friday a Linky Party and I am inviting you in my 1st initiative for blogger, which will give the platform to share your multiple blogs with other aspirant & professional bloggers and get unbiased feedback on them.

    ReplyDelete

Popular Posts

+Get Now!