प्रतिलिप्याधिकार/सर्वाधिकार सुरक्षित ©

इस ब्लॉग पर प्रकाशित अभिव्यक्ति (संदर्भित-संकलित गीत /चित्र /आलेख अथवा निबंध को छोड़ कर) पूर्णत: मौलिक एवं सर्वाधिकार सुरक्षित है।
यदि कहीं प्रकाशित करना चाहें तो yashwant009@gmail.com द्वारा पूर्वानुमति/सहमति अवश्य प्राप्त कर लें।

यदि आप चाहें तो हमें कुछ सहयोग कर सकते हैं

13 November 2012

आज शाम को ....

 आप सभी को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएँ!

आज शाम को 
मैं नहीं चाहता 
देखना 
बेबस हो कर 
कराहते रंगीन 
आसमान को 

आज शाम को 
मैं नहीं चाहता एहसास  
पटाखों के तेज़ धमाकों से 
हिलती धरती 
और बिंधते वायुमंडल में 
घुलती बारूद की तीखी गंध का 
जो लीलती है कई बेज़ुबान जीवन 
बिना कहे, बिना सुने 

आज शाम को 
मैं चाहता हूँ देखना 
खुशबू से महकता 
क़हक़हों से
चहकता आसमान 
दीयों से रोशन धरती  
खुशी से झूमते बच्चे 
कमर तोड़ महंगाई के दौर में भी 
कुछ पल मुस्कुराते चेहरे 
और भेदभाव से परे 
एक  सुकून देने वाला 
अनकहा एहसास !

©यशवन्त माथुर©

14 comments:

  1. मंगलमय हो दीपों का त्यौहार... दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें.....

    ReplyDelete
  2. बहुत खूबसूरत प्रस्तुति,,,
    दीपावली की ढेर सारी शुभकामनाओं के साथ,,,,
    RECENT POST: दीपों का यह पर्व,,,

    म्यूजिकल ग्रीटिंग देखने के लिए कलिक करें,

    ReplyDelete
  3. आप सबको दीपावली शुभ एवं मंगलमय हो। अंग्रेजी कहावत है -A healthy mind in a healthy body लेकिन मेरा मानना है कि "Only the healthy mind will keep the body healthy ."मेरे
    विचार की पुष्टि यजुर्वेद क़े अध्याय ३४ क़े (मन्त्र १ से ६) इन छः वैदिक
    मन्त्रों से भी होती है .

    http://krantiswar.blogspot.in/2012/11/2-2010-6-x-4-t-d-s-healthy-mind-in.html

    ReplyDelete
  4. कमर तोड़ महंगाई के दौर में भी
    कुछ पल मुस्कुराते चेहरे
    और भेदभाव से परे
    एक सुकून देने वाला
    अनकहा एहसास !

    Bahut khoob...Aisa hi ho...Aamin

    ReplyDelete
  5. बहुत बहुत दिनों महीनों के बाद आई हूँ तुम्हारे ब्लॉग में। तुम्हारे ब्लॉग-संकलन को तो कभी-कभार जरूर देख लेती हूँ। लेकिन सच मे आज इतने दिनों बाद तुम्हारा लिखा कुछ पढ़ रही हूँ। बच्चे और बचपन शायद तुम्हारे लिए बहुत मायने रखते हैं। हमेशा तुम्हें इनके इर्द-गिर्द ही शब्दों को बुनते हुये देखा है। लेकिन हर बार एक नए सिरे से बुनते पाया है। शुभ दीपावली!

    ReplyDelete
  6. बेहद भाव पूर्ण आकांक्षा .. दीपों के पावन पर्व पर हार्दिक शुभ कामनाएं

    ReplyDelete
  7. बहुत बहुत धन्यवाद ! मुझे बहुत अच्छा लगा कि आपको मेरा लिखा पसंद आता है। बच्चों के बिना मैं खुद की कल्पना ही नहीं कर सकता। बच्चे हमेशा ही मेरी प्रेरणा हैं।



    सादर

    ReplyDelete
  8. बढ़िया प्रस्तुति ... दीपावली पर्व के शुभ अवसर पर आपको और आपके परिजनों को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं ....

    ReplyDelete
  9. सुन्दर रचना...
    आपको सहपरिवार दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएँ...
    :-)

    ReplyDelete
  10. चाहने से ही सब कुछ नहीं होता न .... सभी को प्रयास करना चाहिए ... सुंदर अभिव्यक्ति

    ReplyDelete
  11. डॉ. रूपचंद्र शास्त्री "मयंक"14 December 2012 at 13:05

    आतिशबाजी का नहीं, ये पावन त्यौहार।।
    लक्ष्मी और गणेश के, साथ शारदा होय।
    उनका दुनिया में कभी, बाल न बाँका होय।
    --
    ஜ▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬●ஜ
    (¯*•๑۩۞۩:♥♥ :|| दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें || ♥♥ :۩۞۩๑•*¯)
    ஜ▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬▬▬▬▬▬●ஜ

    ReplyDelete
  12. रौशनी और खुशियों के पर्व "दीपावली" की ढेरों मुबारकबाद!

    ReplyDelete
  13. दीपावली की ढेर सारी शुभकामनायें |

    आपके इस प्रविष्टि की चर्चा कल बुधवार (14-12-2012) के चर्चा मंच पर भी होगी । जरुर पधारें ।

    सूचनार्थ ।

    ReplyDelete
  14. दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें.....

    ReplyDelete

Popular Posts

+Get Now!