प्रतिलिप्याधिकार/सर्वाधिकार सुरक्षित ©

इस ब्लॉग पर प्रकाशित अभिव्यक्ति (संदर्भित-संकलित गीत /चित्र /आलेख अथवा निबंध को छोड़ कर) पूर्णत: मौलिक एवं सर्वाधिकार सुरक्षित है।
यदि कहीं प्रकाशित करना चाहें तो yashwant009@gmail.com द्वारा पूर्वानुमति/सहमति अवश्य प्राप्त कर लें।

यदि आप चाहें तो हमें कुछ सहयोग कर सकते हैं

17 March 2014

देखो होली का हुड़दंग


  लाल हरा पीला नीला
थोड़ा सूखा थोड़ा गीला
भर पिचकारी उड़ता रंग
देखो होली का हुड़दंग

बच्चा बच्चा भीगा भीगा
थोड़ा मस्त थोड़ा खीझा
गली गली में होती जंग
देखो होली का हुड़दंग

जैकब गुरमीत फरहा सीता
ठंडाई हर कोई पीता
प्लेट में गुझिया मस्त तरंग
देखो होली का हुड़दंग

खुशी से सबका गहरा नाता
त्योहार हमको यही बताता
मिलकर गले बिखरता रंग
देखो होली का हुड़दंग। 

----------------------------------
आप सभी को सपरिवार होली मुबारक
----------------------------------  

~यशवन्त यश©

10 comments:

  1. बढ़िया रचना.....
    आपको भी होली की ढेर सारी शुभकामनाएं यशवंत ...
    सस्नेह
    अनु

    ReplyDelete
  2. लाजवाब हुडदंग है होली का ...
    आपको और परिवार में सभी को होली कि हार्दिक बधाई ...

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर व् सार्थक प्रस्तुति .होली की हार्दिक शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  4. bahut khoob holi ki hardik shubhkamnayen

    ReplyDelete
  5. बहुत सुंदर रचना..... होली की शुभकामनाएं .....!!

    ReplyDelete
  6. बहुत सुंदर रचना.... होली की शुभकामनाएं ....!!

    ReplyDelete
  7. वाह बहुत खूब :)
    होली की हार्दिक शुभकामनाएँ ।

    ReplyDelete
  8. enjoyed holi wid gujhiya n mathri :) happy holi

    ReplyDelete
  9. सुंदर पंक्तियाँ...होली मुबारक..

    ReplyDelete
  10. बहुत बढिया...होली की शुभकामनाएं.यशवंत

    ReplyDelete

Popular Posts

+Get Now!