प्रतिलिप्याधिकार/सर्वाधिकार सुरक्षित ©

इस ब्लॉग पर प्रकाशित अभिव्यक्ति (संदर्भित-संकलित गीत /चित्र /आलेख अथवा निबंध को छोड़ कर) पूर्णत: मौलिक एवं सर्वाधिकार सुरक्षित है।
यदि कहीं प्रकाशित करना चाहें तो yashwant009@gmail.com द्वारा पूर्वानुमति/सहमति अवश्य प्राप्त कर लें।

01 January 2014

बता दो न ...प्लीज़ :)

नव वर्ष !
अब जब
तुम आ ही गए हो
तो तुम्हारा स्वागत है
वैसे ही
जैसे
हर आगत का होता है
भारतीय परिवेश मे

पर मेरे पास
तुम्हारे लिये
आरती का थाल नहीं
न ही तिलक है
बस दो जुड़े हुए हाथ हैं
और माथे पर
तुम से अपेक्षाओं की
अनगिनत लकीरें

अपेक्षाएँ
जो होना स्वाभाविक है
ठीक वैसे ही
जैसे बच्चे
ताकते  हैं
घर आए मेहमान के 
सूट केस को
या पोटली को
कि शायद कुछ
आया हो लेकर 
उनके मतलब का  

बस उसी तरह    
मैं भी 
ताक रहा हूँ तुम्हें 
कि 
365 दिनों की
इस नयी पोटली मे 
छुपा कर
क्या कुछ लाए हो
मेरे लिये
बता दो न 
...प्लीज़ :)
 
~यशवन्त माथुर©

14 comments:

  1. हर एक दिन खिलेगा नए उत्साह के साथ...
    यही बताये आगत वर्ष आपको!

    शुभकामनाएं!

    ReplyDelete
  2. हो जग का कल्याण, पूर्ण हो जन-गण आसा |
    हों हर्षित तन-प्राण, वर्ष हो अच्छा-खासा ||

    शुभकामनायें--

    ReplyDelete
  3. khoobsoorat panktiyaa nav varsh ki badhai

    ReplyDelete
  4. बहुत सुंदर रचना ..... नए साल के लिए बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएँ ....!!

    ReplyDelete
  5. बहुय कुछ दे जाएगा नया वर्ष,,,, नववर्ष की शुभकामनाए।

    ReplyDelete
  6. अभी से नहीं बतायेगा...सरप्राइज भी तो आखिर कुछ चीज है न..

    ReplyDelete
  7. expectations r unlimited, days r limited and efforts r no lesser thn stars in the sky ..

    ReplyDelete
  8. नव वर्ष शुभ और मंगलमय हो !

    ReplyDelete
  9. आपकी लिखी रचना शनिवार 04/01/2014 को लिंक की जाएगी...............
    http://nayi-purani-halchal.blogspot.in
    कृपया पधारें ....धन्यवाद!

    ReplyDelete
  10. आपकी इस ब्लॉग-प्रस्तुति को हिंदी ब्लॉगजगत की सर्वश्रेष्ठ कड़ियाँ (1 जनवरी, 2014) में शामिल किया गया है। कृपया एक बार आकर हमारा मान ज़रूर बढ़ाएं,,,सादर …. आभार।।

    कृपया "ब्लॉग - चिठ्ठा" के फेसबुक पेज को भी लाइक करें :- ब्लॉग - चिठ्ठा

    ReplyDelete
  11. खुबसूरत अभिवयक्ति.....

    ReplyDelete

  12. बड़े ही अनूठे ढंग से गुज़ारिश की है आपने, अब नव-वर्ष को तो आपपे प्रसन्न होना ही होगा। . :) :)

    ReplyDelete

Popular Posts

+Get Now!