प्रतिलिप्याधिकार/सर्वाधिकार सुरक्षित ©

इस ब्लॉग पर प्रकाशित अभिव्यक्ति (संदर्भित-संकलित गीत /चित्र /आलेख अथवा निबंध को छोड़ कर) पूर्णत: मौलिक एवं सर्वाधिकार सुरक्षित है।
यदि कहीं प्रकाशित करना चाहें तो yashwant009@gmail.com द्वारा पूर्वानुमति/सहमति अवश्य प्राप्त कर लें।

यदि आप चाहें तो हमें कुछ सहयोग कर सकते हैं

07 March 2012

क्या कहूँ

सभी पाठकों को होली की अशेष शुभ कामनाएँ!

है रंगों की मस्ती 
हर ओर क्या कहूँ 
मुरझाए फूलों का 
जी उठना क्या कहूँ 
मिठास भरी गुझिया का 
स्वाद क्या कहूँ 
क्या कहूँ कि ठंडाई 
असर अपना दिखाती है
भंग मिली महंगाई 
पहेली बूझ न पाती है 
सब कुछ है रेडीमेड 
कोई न तैयारी क्या कहूँ 
कुछ पल की फुहार 
पिचकारी क्या कहूँ 
मन की हार्ड डिस्क मे 
सुनहरे कुछ पल सहेजे हैं 
उन बीती यादों का
फिर न मिलना क्या कहूँ 

36 comments:

  1. होली की हार्दिक शुभकामनाएं!

    ReplyDelete
  2. कुछ ना कहो.....
    बस रंग जाओ..
    :-)
    आपकी होली शुभ हो.....

    ReplyDelete
  3. खूबसूरत प्रस्तुति
    दिनेश की टिप्पणी : आपका लिंक
    dineshkidillagi.blogspot.com
    होली है होलो हुलस, हुल्लड़ हुन हुल्लास।
    कामयाब काया किलक, होय पूर्ण सब आस ।।

    ReplyDelete
  4. आपके ब्लॉग पर आना सदैव ही सुखद होता है
    होली की शानदार अभिव्यक्ति की है आपने, आभार|

    ReplyDelete
  5. बहुत ही अच्‍छी प्रस्‍तुति ... होली की शुभकामनाएं ।

    ReplyDelete
  6. बेहतरीन प्रस्तुति,सुंदर भाव अभिव्यक्ति....
    होली की बहुत२ बधाई शुभकामनाए...यशवंत जी,.

    RECENT POST...काव्यान्जलि ...रंग रंगीली होली आई,

    ReplyDelete
  7. बहुत सुंदर
    होली की शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  8. कुछ मत कहो यशवंत सर
    बस होली के रंग में रंग कर
    मजे करो..
    सुंदर रचना...
    होली पर्व कि आपको ढेर सारी शुभ कामनाएँ ....
    **********************************

    ReplyDelete
  9. भीगी भीगी होली में रंगों से तरबतर शुभकामनाएं...

    ReplyDelete
  10. बस होली के रंग में रंग जाओ आज ... बहुत सुन्गद रचना है होली की ...

    आपको और परिवार में सभी को होली की मंगल कामनाएं ...

    ReplyDelete
  11. मन की हार्ड डिस्क मे
    सुनहरे कुछ पल सहेजे हैं
    उन बीती यादों का
    फिर न मिलना क्या कहूँ
    होली मुबारक सभी ब्लोगर भाइयों और बांध्वियों को .

    बीती ताहि बिसार दे ,आगे की सुध ले .

    भैया होली सो ,'होली' .

    ReplyDelete
  12. सुंदर
    होली की शुभकामनायें ..

    ReplyDelete
  13. सुंदर पंक्तियाँ. आपको होली की हार्दिक शुभकामानाएँ.

    ReplyDelete
  14. सुंदर रचना.
    होली की शुभकामानाएँ!!

    ReplyDelete
  15. "मन की हार्ड डिस्क मे
    सुनहरे कुछ पल सहेजे हैं
    उन बीती यादों का
    फिर न मिलना क्या कहूँ "
    मन के लिए हार्ड डिस्क का रूपक बहुत पसंद आया। चलिए वो बीती यादें महफ़ूज़ तो हैं Replay कर लीजिएगा यशवंत जी!
    आकर्षक प्रस्तुति !

    ReplyDelete
  16. होली की शुभकामनांयें

    ReplyDelete
  17. बेहद खूबसूरत रंगमयी प्रस्तुति………… होली की हार्दिक शुभकामनाएँ !

    ReplyDelete
  18. .

    "मन की हार्ड डिस्क मे सहेजे सुनहरे पल" अक्षुण्ण रहें … द्विगुणित हों …
    यही कामना है …

    अच्छी रचना है

    ReplyDelete
  19. **♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**
    ~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~
    *****************************************************************
    ♥ होली ऐसी खेलिए, प्रेम पाए विस्तार ! ♥
    ♥ मरुथल मन में बह उठे… मृदु शीतल जल-धार !! ♥



    आपको सपरिवार
    होली की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं !
    - राजेन्द्र स्वर्णकार
    *****************************************************************
    ~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~
    **♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**

    ReplyDelete
  20. बहुत अच्छी प्रस्तुति| होली की आपको हार्दिक शुभकामनाएँ|

    ReplyDelete
  21. //सब कुछ है रेडीमेड
    कोई न तैयारी क्या कहूँ
    कुछ पल की फुहार
    पिचकारी क्या कहूँ

    bilkul hi badal gaya sirji holi khelne ka dhang.. :(

    holi ki bahut bahut shubhkaamnaaein :)

    ReplyDelete
  22. होली की ढेर सारी शुभकामनायें

    ReplyDelete
  23. होली की शुभकामनाएँ ...

    ReplyDelete
  24. बहुत अच्छी प्रस्तुति... होली की हार्दिक शुभकामनाएँ...

    ReplyDelete
  25. आपको सपरिवार होली की शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  26. बहुत सुंदर ...हार्दिक शुभकामनायें

    ReplyDelete
  27. Bahut khub! holi ki hardik shubmkamnayen...

    ReplyDelete
  28. होली की शुभकामनायें ..... कल तुम्हारा ब्लॉग नहीं खुल रहा था .... अच्छी प्रस्तुति

    ReplyDelete
  29. बहुत सुंदर कुछ अलग सी रचना होली के इस शुभ अवसर पर...

    ReplyDelete
  30. बहुत ही खूबसूरत रचना..होली की शुभकामनायें |

    ReplyDelete
  31. सुन्दर प्रस्तुति ....होली एवं अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की ढेर सारी शुभकामनाएं जी आपको

    ReplyDelete
  32. मन की हार्ड डिस्क मे
    सुनहरे कुछ पल सहेजे हैं
    उन बीती यादों का
    फिर न मिलना क्या कहूँ

    waise riston me to kadwahat, meethapan khtas aate rahte hain, par मन की हार्ड डिस्क मे
    सुनहरे कुछ पल सहेजे हैं
    उन बीती यादों का
    फिर न मिलना क्या कहूँ ......... dubara milne ke baad riste fir se update ho jayenge.....
    bahut khub prastuti, aapko spriwar Holi ki shubhkamnayen .......

    ReplyDelete
  33. 'मन की हार्ड डिस्क मे
    सुनहरे कुछ पल सहेजे हैं '
    - बहुत अर्थ-गर्भित प्रयोग:ये हार्ड डिस्क हमारे भीतर फ़िट कर दी गई है जिसके अंकनों पर हमारा बस नहीं .

    ReplyDelete
  34. बेहतरीन अभिव्यक्ति....होली की हार्दिक शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  35. बहुत सुंदर रचना,बेहतरीन प्रस्तुति....

    RESENT POST...फुहार...फागुन...

    ReplyDelete

Popular Posts

+Get Now!