प्रतिलिप्याधिकार/सर्वाधिकार सुरक्षित ©

इस ब्लॉग पर प्रकाशित अभिव्यक्ति (संदर्भित-संकलित गीत /चित्र /आलेख अथवा निबंध को छोड़ कर) पूर्णत: मौलिक एवं सर्वाधिकार सुरक्षित है।
यदि कहीं प्रकाशित करना चाहें तो yashwant009@gmail.com द्वारा पूर्वानुमति/सहमति अवश्य प्राप्त कर लें।

यदि आप चाहें तो हमें कुछ सहयोग कर सकते हैं

02 August 2013

सीमित शब्द और मेरे ख्याल

मेरे ख्याल
घूमते हैं
कुछ गिने चुने
कुछ खास
शब्दों के इर्द गिर्द ...
जिन के चारों ओर
परिक्रमा करता है
मेरा मन

कभी समझते हुए
किसी तस्वीर की
मौन भाषा   ...
कभी देखते हुए
बहते पानी की
चहकती लहरें.... 
कभी देख कर
अधखिली कलियाँ ...
कभी झूमते हुए
खिले हुए फूलों की
मादक खुशबू में ...
कभी निहारते हुए
उड़ती चिड़ियाँ
भौंरे और तितलियाँ
कभी सुनते हुए
मन पसंद संगीत ...

मेरे ख्याल
अपने सीमित शब्दकोश से  
चुन लेते हैं
कहने लायक कुछ शब्द 
और कोशिश करते हैं
करने की
कुछ बातें खुद से।

~यशवन्त माथुर©

18 comments:

  1. चलती रहे परिक्रमा!

    ReplyDelete
  2. sahi kaha yashwant bhai...man ko bha gayi ye rachna

    ReplyDelete
  3. यहीं से तो शब्दों का निर्माण होता है.........
    अपने इर्द गिर्द चारों और से तो लेते है हम और रचना कर डालते है बहुत अच्छा लिखा .....

    ReplyDelete
  4. बहुत सुन्दर हैं ख़याल और उनका शब्दों का चयन भी....

    सस्नेह
    अनु

    ReplyDelete
  5. शब्दों से ख्याल बनते हैं और वे ही ख्याल फिर खुद से बाते करते हैं..एक सुंदर ख्याल है यह भी तो..

    ReplyDelete
  6. खूबसूरत ख्यालों की सुंदर शब्दों से परिक्रमा .....
    वाह

    ReplyDelete
  7. khud se khud ki baatein karte karte dekho jag se keh baithe...kuchh aisa hi likha par likha achha :)

    shubhkamnayen

    ReplyDelete
  8. great
    मेरे ख्याल
    अपने सीमित शब्दकोश से
    चुन लेते हैं
    कहने लायक कुछ शब्द
    और कोशिश करते हैं
    करने की
    कुछ बातें खुद से।
    वे ही शब्द दूसरे के दिल को छूते हैं
    हार्दिक शुभकामनायें

    ReplyDelete
  9. आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा शनिवार(3-8-2013) के चर्चा मंच पर भी है ।
    सूचनार्थ!

    ReplyDelete
  10. बहुत बढिया सार्थक अभिव्यक्ति .

    ReplyDelete
  11. शब्दकोष से सुन्दर चयन शब्दों का बधाई

    ReplyDelete
  12. सुन्दर शब्दों की परिक्रमा और अद्भुत भाव

    ReplyDelete
  13. वाह , बहुत सुंदर





    यहाँ भी पधारे

    गजल
    http://shoryamalik.blogspot.in/2013/08/blog-post_4.html

    ReplyDelete
  14. आपकी इस प्रस्तुति को शुभारंभ : हिंदी ब्लॉगजगत की सर्वश्रेष्ठ प्रस्तुतियाँ ( 1 अगस्त से 5 अगस्त, 2013 तक) में शामिल किया गया है। सादर …. आभार।।

    कृपया "ब्लॉग - चिठ्ठा" के फेसबुक पेज को भी लाइक करें :- ब्लॉग - चिठ्ठा

    ReplyDelete

Popular Posts

+Get Now!