प्रतिलिप्याधिकार/सर्वाधिकार सुरक्षित ©

इस ब्लॉग पर प्रकाशित अभिव्यक्ति (संदर्भित-संकलित गीत /चित्र /आलेख अथवा निबंध को छोड़ कर) पूर्णत: मौलिक एवं सर्वाधिकार सुरक्षित है।
यदि कहीं प्रकाशित करना चाहें तो yashwant009@gmail.com द्वारा पूर्वानुमति/सहमति अवश्य प्राप्त कर लें।

यदि आप चाहें तो हमें कुछ सहयोग कर सकते हैं

08 February 2013

क्षणिका....

थोड़ा ख्वाब
थोड़ी हकीकत
जिंदगी जो भी है
ज़िंदगी ही है!

©यशवन्त माथुर©

9 comments:

  1. बढ़िया लिखा है यशवंत जी!

    ReplyDelete
  2. हां...जिंदगी ही है

    ReplyDelete
  3. मकसद से जियो तो खुबसूरत है ज़िंदगी ....
    :-)

    ReplyDelete
  4. थोड़ा ख्वाब
    थोड़ी हकीकत
    जिंदगी जो भी है
    ज़िंदगी ही है!

    bahut hi sundar jindagi jindagi hi hai......

    ReplyDelete
  5. बहुत ही बढ़िया है जिन्दगी।

    ReplyDelete
  6. ख्वाब हकीकत हो जाते हैं, और हकीकत भी ख्वाब सी लगती है..जिंदगी में

    ReplyDelete

Popular Posts

+Get Now!