प्रतिलिप्याधिकार/सर्वाधिकार सुरक्षित ©

इस ब्लॉग पर प्रकाशित अभिव्यक्ति (संदर्भित-संकलित गीत /चित्र /आलेख अथवा निबंध को छोड़ कर) पूर्णत: मौलिक एवं सर्वाधिकार सुरक्षित है।
यदि कहीं प्रकाशित करना चाहें तो yashwant009@gmail.com द्वारा पूर्वानुमति/सहमति अवश्य प्राप्त कर लें।

यदि आप चाहें तो हमें कुछ सहयोग कर सकते हैं

09 March 2011

दिल की बात

तुम कौन हो
कहाँ हो
मैं नहीं जानता
बस दिल के एक कोने में
तुम्हारी आभासी तस्वीर
सजा रखी है
इस उम्मीद के साथ
कि जब कभी
तुमको पहचान सका 
अगर
तो कह दूंगा तुम से
अपने दिल की बात.

9 comments:

  1. दिल की बात कह देने में ही भलाई है... अच्छी रचना.

    http://dunali.blog.com/

    ReplyDelete
  2. chhoti lekin acchhee baat....dil ki baat bataa hi dijiye..very nice.

    ReplyDelete
  3. bahut sundar ....
    --------------
    भारतीय दूल्हा-दुल्हन
    http://rimjhim2010.blogspot.com/2011/03/blog-post_09.html

    ReplyDelete
  4. बहुत सुन्दर..

    ReplyDelete
  5. कम शब्दों में बडी बात ,वाह !!!

    ReplyDelete
  6. सुंदर ...सरल अभिव्यक्ति ...मन को छूने वाली...

    ReplyDelete
  7. आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद!

    ReplyDelete

Popular Posts

+Get Now!