प्रतिलिप्याधिकार/सर्वाधिकार सुरक्षित ©

इस ब्लॉग पर प्रकाशित अभिव्यक्ति (संदर्भित-संकलित गीत /चित्र /आलेख अथवा निबंध को छोड़ कर) पूर्णत: मौलिक एवं सर्वाधिकार सुरक्षित है।
यदि कहीं प्रकाशित करना चाहें तो yashwant009@gmail.com द्वारा पूर्वानुमति/सहमति अवश्य प्राप्त कर लें।

यदि आप चाहें तो हमें कुछ सहयोग कर सकते हैं

19 March 2011

वो बीती होली....

वो बचपन की होली
दोस्तों संग ठिठोली
वो मस्ती वो उल्लास
वो अबीर वो गुलाल
गुब्बारों की मार
पिचकारी की फुहार
वो गुझियों पर टूट पड़ना
और ठूंस ठूंस कर खाना
बे फ़िक्र होकर घूमना
ठंडाई के लिए लड़ना
और हंसना
भांग के नशे में झूमते
हुडदंगियों को देख कर

वो रंगे पुते चेहरे
जो एहसास कराते
बीस दिनों तक
होली की ताजगी का

याद  आते हैं वो दिन
जो अब  दुर्लभ हैं
होली अब भी है
पर बेशर्म हुडदंग हैं
और उत्साह
कुछ घंटों का है
क्योंकि
सब व्यस्त हैं
घड़ी की सुइयों से
तेज चलने की
राहें  तलाशने में!

आप सभी प्रबुद्ध पाठकों को सपरिवार होली की हार्दिक शुभकामनाएं !

29 comments:

  1. वो बचपन की होली
    दोस्तों संग ठिठोली
    वो मस्ती वो उल्लास
    वो अबीर वो गुलाल
    गुब्बारों की मार
    पिचकारी की फुहार
    बचपन में त्योंहारों की अलग की मस्ती होती है..... बहुत सुंदर
    रंग पर्व की मंगलकामनाएं

    ReplyDelete
  2. होली अब भी है
    पर बेशर्म हुडदंग हैं
    ekdam sahi .......

    ReplyDelete
  3. होली के पर्व की अशेष मंगल कामनाएं। ईश्वर से यही कामना है कि यह पर्व आपके मन के अवगुणों को जला कर भस्म कर जाए और आपके जीवन में खुशियों के रंग बिखराए।
    आइए इस शुभ अवसर पर वृक्षों को असामयिक मौत से बचाएं तथा अनजाने में होने वाले पाप से लोगों को अवगत कराएं।

    ReplyDelete
  4. वो रंगे पुते चेहरे
    जो एहसास कराते
    बीस दिनों तक
    होली की ताजगी का.....

    रचना में भावाभिव्यक्ति बहुत अच्छी है....बधाई.
    होली की हार्दिक शुभकामनाएं !

    ReplyDelete
  5. होली की शुभकामनायें .....हैप्पी होली....

    ReplyDelete
  6. sab yaad mein hain .... holi ki shubhkamnayen

    ReplyDelete
  7. होली अब भी है
    पर बेशर्म हुडदंग हैं
    और उत्साह
    कुछ घंटों का है
    क्योंकि
    सब व्यस्त हैं
    घड़ी की सुइयों से
    तेज चलने की
    राहें तलाशने में!..

    बचपन की होली अब कहाँ है...बहुत सार्थक, भावपूर्ण और सुन्दर प्रस्तुति..होली की शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  8. हैप्पी होली भैया .......

    ReplyDelete
  9. होली की अनन्त शुभकामनायें.....

    ReplyDelete
  10. रंगों के पावन पर्व होली के शुभ अवसर पर आपको और आपके परिवारजनों को हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई ...

    ReplyDelete
  11. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  12. वो बचपन की होली
    दोस्तों संग ठिठोली.. apne holi se judi har yaad ko hame yaad dila diya... bhut khubsurat kavita hai...

    ReplyDelete
  13. Yashwant ji
    sabse pehle aap saparivaar ko Holi ki hardik subhkanmai.
    aapki ye kavita bahut pasand aayi,ab wo pehle jaisa utsah nahi raha,ab to holi ke naam par huddang hi hota hain.

    ReplyDelete
  14. बहुत ही बेहतरीन लिखा है...

    आपको भी परिवार सहित होली की बहुत-बहुत मुबारकबाद... हार्दिक शुभकामनाएँ!

    ReplyDelete
  15. बचपन में सभी त्यौहारों का मजा आता है....
    सुंदर भाव
    आप सबको होली की शुभकामनाएं...

    ReplyDelete
  16. होली की शुभकामनायें।

    ReplyDelete
  17. aapko bhi holi ki hardik shubhkamnaye.......
    achi lagi rachna .....

    ReplyDelete
  18. आपको एवं आपके परिवार को होली की बहुत मुबारकबाद एवं शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete
  19. होली पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ|

    ReplyDelete
  20. होली की हार्दिक शुभकामनाएँ !

    ReplyDelete
  21. आपको सपरिवार होली की हार्दिक शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  22. होली की अनंत शुभकामनाओं के साथ आप सभी को बहुत बहुत धन्यवाद!

    ReplyDelete
  23. बहुत ही बेहतरीन

    आपको भी परिवार सहित होली की बहुत-बहुत मुबारकबाद... हार्दिक शुभकामनाएँ!

    ReplyDelete
  24. आपकी ये रचना कल नई-पुरानी हलचल पर पोस्ट की जा रही है .... ! आपके सुझाव का इन्तजार रहेगा .... !

    ReplyDelete
  25. वो बचपन की होली
    दोस्तों संग ठिठोली
    वो मस्ती वो उल्लास
    वो अबीर वो गुलाल
    गुब्बारों की मार
    पिचकारी की फुहार
    वो गुझियों पर टूट पड़ना

    रंग बिरंगी यादें ....बहुत सुन्दर
    होली की बहुत बहुत शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  26. होली की रंगीन छटाएं आपके जीवन में हर्ष और उल्लास भर दें

    ReplyDelete
  27. सच्ची क्या दिन थे..........
    सुबह से दिल धड़कता था डर के मारे.....
    फिर एक बार जो रंग गए तो खुद शेर हो जाते...........

    होली की ढेर सारी शुभकामनाये आपको...
    और सुन्दर रचना हेतु बधाई....

    ReplyDelete
  28. सुंदर होली की छटा बिखेरती रचना ... होली की शुभकामनायें

    ReplyDelete
  29. होली की सारी मस्ती याद आ गयी
    बहुत सुन्दर रचना
    होली पर्व कि आपको हार्दिक शुभकामनाएँ ....

    ReplyDelete

Popular Posts

+Get Now!