प्रतिलिप्याधिकार/सर्वाधिकार सुरक्षित ©

इस ब्लॉग पर प्रकाशित अभिव्यक्ति (संदर्भित-संकलित गीत /चित्र /आलेख अथवा निबंध को छोड़ कर) पूर्णत: मौलिक एवं सर्वाधिकार सुरक्षित है।
यदि कहीं प्रकाशित करना चाहें तो yashwant009@gmail.com द्वारा पूर्वानुमति/सहमति अवश्य प्राप्त कर लें।

यदि आप चाहें तो हमें कुछ सहयोग कर सकते हैं

31 March 2011

विचारों का समुद्र कुछ शांत सा है .....

विचारों का समुद्र
कुछ शांत सा है
अपनी  ही धुन में
लहरें आ रही हैं
जा रही हैं
सुन  रहा हूँ
उठने गिरने की
चलने फिरने की
कुछ आवाजें
मगर शोर नहीं
है  अजीब सी शान्ति
मुझे जिसकी आदत नहीं
पता नहीं
ये राहत है
या संकेत
किसी ज्वार भाटे के
आने का !

17 comments:

  1. ये राहत है
    या संकेत
    किसी ज्वार भाटे के
    आने का !
    बहुत व्यथित मन का आपने बहुत सुन्दर varnan किया है .

    ReplyDelete
  2. शांत विचार में .....अछे भाव आने की कामना है

    ReplyDelete
  3. वाह...बेहतरीन कविता...तूफ़ान से पहले की शांति पर शंशय...

    नीरज

    ReplyDelete
  4. ह्र्दय की गहराई से निकली अनुभूति रूपी सशक्त रचना

    ReplyDelete
  5. har khamoshi khub me bhut kuch chupaye hoti hai...khamoshi aur vicharo ka bhut hi sunder varan kiya hai apne....

    ReplyDelete
  6. बहुत ही उम्दा शब्द है !हवे अ गुड डे ! मेरे ब्लॉग पर जरुर आना !
    Music Bol
    Lyrics Mantra
    Shayari Dil Se
    Latest News About Tech

    ReplyDelete
  7. बेहतरीन...मन को छू जाते अहसास...

    ReplyDelete
  8. आपकी रचनाएँ सहज होते हुए भी सुन्दर होते हैं ... बहुत खूब !

    ReplyDelete
  9. सुन रहा हूँ
    उठने गिरने की
    चलने फिरने की
    कुछ आवाजें
    मगर शोर नहीं
    है अजीब सी शान्ति
    मुझे जिसकी आदत नहीं......


    संवेदना से भरी मार्मिक रचना....
    हार्दिक बधाई...

    ReplyDelete
  10. ये सब सामान्‍य लक्षण है, हकीकतन रोग वही है।

    ReplyDelete
  11. आपकी रचनाएँ सहज होते हुए भी सुन्दर होते हैं|धन्यवाद|

    ReplyDelete
  12. बहुत खूब
    नये बिंब से सजी रचना
    बहुत बहुत शुभकामनाये

    ReplyDelete
  13. ये राहत है
    या संकेत
    किसी ज्वार भाटे के
    आने का !
    बहुत खूब.....

    ReplyDelete
  14. आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद!

    ReplyDelete
  15. तूफ़ान से पहले की शांति भी डराती है…………बेहद उम्दा ।

    ReplyDelete

Popular Posts

+Get Now!