प्रतिलिप्याधिकार/सर्वाधिकार सुरक्षित ©

इस ब्लॉग पर प्रकाशित अभिव्यक्ति (संदर्भित-संकलित गीत /चित्र /आलेख अथवा निबंध को छोड़ कर) पूर्णत: मौलिक एवं सर्वाधिकार सुरक्षित है।
यदि कहीं प्रकाशित करना चाहें तो yashwant009@gmail.com द्वारा पूर्वानुमति/सहमति अवश्य प्राप्त कर लें।

यदि आप चाहें तो हमें कुछ सहयोग कर सकते हैं

27 March 2011

मुझ से दोस्ती करोगे ?

अपनी माँ की गोद में
कंधे से सर लगाए
पीछे मुड मुड कर
वो  बार बार
मुझको देख रहा  था
एक टक
रह रह कर
खिलखिला रहा था
और 
बार बार अपने
नाज़ुक से हाथ
बढ़ा रहा था
मुझ अनजान की ओर .
मानो कह रहा हो
मुझ से दोस्ती करोगे ?

21 comments:

  1. बहुत ही कोमल भावनाओं में रची-बसी इस रचना के लिए
    आपको हार्दिक बधाई।

    ReplyDelete
  2. बोलती अभिव्यक्ति ....
    शुभकामनायें..

    ReplyDelete
  3. bhut hi sunder aur bhaavpur kavita very very nice...

    ReplyDelete
  4. sundar kavita
    achcha lagta hai is tarah kisi bachche ka haath badhana

    ReplyDelete
  5. अच्‍छी अभिव्‍यक्ति।
    सुंदर प्रस्‍तुतिकरण।
    शुभकामनाएं आपको।

    ReplyDelete
  6. बहुत कोमल भाव यशवंत .... हूँ ......बच्चे आपकी वीकनेस हैं सही लिखा है....

    ReplyDelete
  7. ऐसी कवितायेँ ही मन में उतरती हैं ॥

    ReplyDelete
  8. अच्‍छी अभिव्‍यक्ति...

    ReplyDelete
  9. अच्छी लगी कविताये आपके ब्लोग्स पर शुभकामनाये

    ReplyDelete
  10. बहुत बढ़िया!

    ReplyDelete
  11. बच्चे के रूप में तभी तो भगवान् के दर्शन होते हैं.

    ReplyDelete
  12. बहुत सुन्दर कविता...लेट अस फ्रैंडशिप.

    ReplyDelete
  13. बहुत ही सुन्‍दर भाव ...

    ReplyDelete
  14. निश्छल कोमल और सुंदर एहसास से भरी रचना -
    बहुत सुंदर

    ReplyDelete
  15. आपके ब्लॉग पर आकर अच्छा लगा. हिंदी लेखन को बढ़ावा देने के लिए आपका आभार. आपका ब्लॉग दिनोदिन उन्नति की ओर अग्रसर हो, आपकी लेखन विधा प्रशंसनीय है. आप हमारे ब्लॉग पर भी अवश्य पधारें, यदि हमारा प्रयास आपको पसंद आये तो "अनुसरण कर्ता" बनकर हमारा उत्साहवर्धन अवश्य करें. साथ ही अपने अमूल्य सुझावों से हमें अवगत भी कराएँ, ताकि इस मंच को हम नयी दिशा दे सकें. धन्यवाद . आपकी प्रतीक्षा में ....
    भारतीय ब्लॉग लेखक मंच
    डंके की चोट पर

    ReplyDelete
  16. एकदम बोलती हुई कविता है.
    आपके ब्लॉग पर जो मीठा मीठा म्यूजिक बजता रहता है ये कानों को बहुत सुख देता है.

    ReplyDelete
  17. आप सभी का तहे दिल से शुक्रिया!

    ReplyDelete

Popular Posts

+Get Now!